बदहाली का दंस झेल रहा है उर्दू प्राथमिक विधालय चैनपूरा

सिटी न्यूज़ नालंदा |बिहारशरीफ़ शहर से एक किलोमीटर की दूरी पर वसा गाँव चैनपूरा गाँव के उर्दू प्राथमिक विधालय बदहाली का डंस झेल रहा है इस स्कूल मे 146 छात्र- छात्राओ का नामांकन है जिसमे प्रटेक दिन लगभग 125 बच्चे उपस्थित होते है | शिक्षक भी अपनी डीयूटी ईमानदारी से निभाते है |मगर शिक्षा विभाग के अनदेखी के कारण इस विधालय का भवन आखिरी सास ले रहा है |स्कूल का भवन कभी भी गिर सकता है और यहा कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है | स्कूल मे पेजल की कोई व्यवस्था नहीं है एक चापाकल है बो भी खराब पड़ा हुआ है | जव बच्चे को प्यास लगती या सौच के लिए जाना होता तो उसे अपने घर का सहारा लेना पड़ता है |स्कूल के प्राचार्य का कहना है की स्कूल के भवन निर्माण के लिए कई बार विभाग को पत्र लिखा गया है मगर आज तक कोई कार्यवाई नहीं हुई जिसके कारण बच्चे और खुद का जान जोखिम मे डालकर स्कूल मे पढ़ाई करना पड़ता है |विभाग फंड का रोना रोकर मामले को ठंडे बस्ते मे दाल दिया है |इस मामले राजगीर विधायक रवि ज्योति का कहना है की यह इलाका आज भी विकाश से काफी दूर है उन्होने कहा की इस विधायल के भवन निर्माण के लिए हम अपने फंड से पाँच लाख की राशि भेजे थे मगर विभाग द्वारा राशि लौटा दी गई और भवन निर्माण नहीं हो सका |उन्होने कहा की हमलोग लगातार प्रयास कर रहे है की इस विधालय भवन जिन्नोधार कराया जाय ताकि बच्चे इस स्कूल मे वेखौप होकर अपनी पढ़ाई कर सके |

Related posts