दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो कठिन नहीं है आईएएस की परीक्षा : प्रो. (डॉ.) आरबी सिंह

सिटी न्यूज़ पटना। यूपीएससी की परीक्षा को लेकर आज भी लोगों में काफी भ्रांतियां है कि इसमें सफल होना असंभव है, लेकिन सही मायने में ऐसा नहीं है। विद्यार्थियों में दृढ़ इच्छाशक्ति और लगन हो तो कोई भी छात्र सफल हो सकता है। मुख्यतः इस कठिन परीक्षा में सफलता के लिये अभ्यर्थियों में शैक्षिक योग्यता के साथ अनुशासन और धैर्य होना अति आवश्यक है।
ये बातें पटना विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. (डॉ.) रास बिहारी प्रसाद ने अभियान -40(आईएएस), निःशुल्क कक्षाएं की ओर से आयोजित सेमिनार में कही। यूपीएससी की तैयारी के लिए निःशुल्क बैच का शुभारंभ सह ‘यूपीएससी : एक मार्गदर्शन’ विषय पर आयोजित सेमिनार में बड़ी संख्या में प्रशासनिक पदाधिकारियों, शिक्षाविदों तथा विशेषज्ञ शिक्षकों ने शिरकत की। इस मौके पर वरिष्ठ आईएएस पदाधिकारी तथा माध्यमिक शिक्षा विभाग के अपर सचिव गिरिवर दयाल सिंह ने कहा कि इस कठिन परीक्षा की तैयारी के लिए सम्पूर्ण समर्पण आवश्यक है। प्रत्येक रात सोने से पहले आप अपना मूल्यांकन करें कि क्या आप इससे और अधिक मेहनत कर सकते थे या नहीं। और यही सवाल आपको हर परीक्षा के बाद अपने आप से करना है। मेरा दावा है कि आपको हर बार यही जवाब मिलेगा कि हां मैं और मेहनत कर सकता था। जिस दिन आप अपने जवाब से स्वयं संतुष्ट हो जायेंगे, आपको आईएएस बनने से कोई नहीं रोक सकता। इस मौके पर आयकर विभाग के संयुक्त सचिव रंजीत मधुकर ने बच्चों को नोट्स बनाने तथा पढ़ने के तरीके बताए वहीं बिहार फाइनेन्स सेवा की अधिकारी मिनी साह ने विद्यार्थियों को इंटरव्यू तथा व्यक्तित्व विकास को लेकर चर्चा की। इस अवसर पर सेवानिवृत्त आईपीएस चन्द्रिका प्रसाद, डीएसपी अरुणोदय पांडेय, बिहार फाइनान्स सेवा के पदाधिकारी वैसुर रहमान अंसारी, बिहार प्रोबेशन सेवा के डॉ. राजीव कुमार, राष्ट्रीय सहारा के मुख्य उप संपादक अवध कुमार, सहित कई अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने यूपीएससी की तैयारियों पर चर्चा की।
डॉ. राजीव ने कहा कि यह अच्छी बात है कि अभियान -40 (आईएएस) यहाँ के बच्चों को एक आदर्श वातावरण उपलब्ध कराने का प्रयास कर रहा है।
इस मौके पर संस्थान के निदेशक बिलास कुमार ने कहा कि इस संस्थान में वे तमाम सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है जो देश के प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों में मिलती है। यही कारण है कि प्रत्येक साल यहां से बड़ी संख्या में छात्र सफल हो रहे हैं। कार्यक्रम में, शिक्षक जितेंद्र कुमार, सिंह, विष्णुकांत, रविकांत, नीतीश कुमार समेत बड़ी संख्या में छात्र – छात्रायें मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन प्रमोद कुमार ने किया।

Related posts